ओए न्यूज़

Election2017- मतदाताओं के ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ से उत्तर प्रदेश में ‘विकास’ की सरकार

मार्च 11, 2017 ओये बांगड़ू

काशी की होली केसरिया रंग में रंग चुकी है। तो बनारस में किस जगह कितना गाड़ा रंग चढ़ा है बता रहे है बनारसी बांगड़ू सैयद फैज़ हसन 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लगातार तीन दिन काशी प्रवास के बाद उत्तर प्रदेश चुनाव की तस्वीर कुछ साफ़ हो गयी थी। उसके बाद आज आये चुनाव परिणाम ने उस धुंधली तस्वीर को साफ़ कर दिया और उत्तर प्रदेश की होली केसरिया रंग में रंग गयी। मतदाताओं के सर्जिकल स्ट्राइक से पूर्व की जातिगत लाभ वाली पार्टियां भी केसरिया के प्रभाव से प्रभावित दिखी। जिसका परिणाम यह रहा कि बसपा सुप्रीमो ने चुनाव आयोग से चुनाव दुबारा बैलेट पेपर के ज़रिये कराने की अपील की और कहा की ईवीएम से छेड़ छाड़ की।

बनारस की आठ सीटों और प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र की 5 सींटों पर भाजपा के प्रत्याशियों ने कमाल कर दिखाया है। इसमें कई पुरोधाओ को मुँह की खानी पड़ी है तो कुछ की हालात खराब है। वाराणसी की आठ सीटों में से सबसे कद्दावर प्रत्याशी अजय राय ( सपा – कांग्रेस गठबंधन ) इस समय मतों की गिनती में तीसरे नंबर पर चल रहे है। वही सपा शासन में लोकनिर्माण मंत्री रहे सेवापुरी से चुनाव लड़ रहे सुरेंद्र सिंह पटेल को भाजपा अपनादल गठबंधन के प्रत्याशी नील रतन सिंह पटेल नीलू ने 30 हज़ार मतों के अंतर से हरा सपा कांग्रेस गठबंधन पर सवालिया निशान लगा दिया।
भाजपा के शिवपुर विधानसभा प्रत्याशी अनिल राजभर ने सपा के आनंद मोहन गुड्डू को 5 हज़ार से अधिक मतों से हरा दिया। वही रोहनिया सीट से राज्य मंत्री सुरेंन्द्र पटेल के भाई महेन्द्र पटेल भाजपा के सुरेंद्र नारायण सिंह से 20 हज़ार मतों से पीछे चल रहे है। अजगरा सीट से भाजपा के सहयोगी दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रत्याशी कैलाशनाथ सोनकर कांग्रेस सपा गठबंधन के लालाजी सोनकर से 3 हज़ार वोटों से पीछे चल रहे है।

वाराणसी शहर की तीन सीटों में से वाराणसी शहर उत्तरी सीट पर भाजपा के मौजूदा विधायक रविन्द्र जायसवाल अपने निकटतम प्रतिद्वंदी सपा कांग्रेस गठबंधन के अब्दुल समद अंसारी से 5 हज़ार वोटों से आगे चल रहे है। वाराणसी कैंट सीट से मौजूद विधायक ज्योत्स्ना श्रीवास्तव के लड़के सौरभ श्रीवास्तव इस समय कांग्रेस – सपा गठबंधन के अनिल श्रीवास्तव से 3500 वोटों से आगे चल रहे है।

वाराणसी शहर की सबसे हॉट सीट शहर दक्षिणी पर कांग्रेस सपा गठबंधन से शहर के पूर्व सांसद राजेश मिश्रा और भाजपा के नीलकंठ तिवारी में कांटे की टक्कर चल रही है। कभी नीलकंठ आगे चल रहे है तो कभी राजेश मिश्र। समाचार लिखे जाने तक नीलकंठ तिवारी 1500 वोटों से आगे थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *