गंभीर अड्डा

ये हैं देश के असली बार्डर

अक्टूबर 29, 2016 ओये बांगड़ू

भारत के बार्डर के नाम आते ही हमारे दिमाग में कश्मीर गुजरात राजस्थान कन्याकुमारी वगेरह आ जाते हैं. लेकिन क्या आपको पता है की बार्डर में एक असली वाला कोना होता है जिसे असली बार्डर कहा जाता है. जैसे कश्मीर बार्डर का राज्य है लेकिन बार्डर नहीं , बार्डर तो कश्मीर का एक गाँव है बस, भारत के चार छोरों पर चार बार्डर हैं और उनके असली नाम क्या हैं ये हमें बतायेंगे चन्दन .

 भारत के अंतिम छोर
1- भारत के पूर्व  का  अंतिम छोर है “किबितु” , ये अरुणाचल का एक छोटा सा गाँव है. इसके बाद सीधे चीन शुरू हो जाता है. 1455px-india_arunachal_pradesh_location_map-svg

‘ किबितु ‘भारत का पूर्व में अंतिम छोर है । ये एक छोटा सा गाँव अरुणाचल प्रदेश के अंजव डिस्ट्रिक्ट में है । लोहित ज़िले में है और इसके बाद से चीन का तिब्बत क्षेत्र शुरू हो जाता है । विशाल लोहित नदी के दाहिने मुहाने पर बसा है किबितु । 1962  में चीन के भीषण आक्रमण के वीरता के साथ सामना करते हुए भारतीय जवानों का साक्षी रहा है । ….।

२-पश्चिम –  गुजरात में पश्चिम की ओर कच्छ डिस्ट्रिक्ट में स्थित “गुहार मोटा” गाँव अंतिम पश्चिमी छोर है । ये गाँव  नारायण सरोवर पंचायत के अंतर्गत आता है ।
1008px-india_gujarat_location_map-svg

3-उत्तर –   भारत का उत्तरी छोर विवादित है । सीमा नियंत्रण क्षेत्र में जम्मू कश्मीर में सियाचिन ग्लेशियर को वैसे भारत का अंतिम छोर कहा जा सकता है । भारत 1947 के विभाजन के बाद संपूर्ण जम्मू कश्मीर को अपना अंग मानता है । इस दृष्टि से गिलगिट, बालिस्तान, और कंजुट हैं । जो  पाकिस्तन ऑक्युपाइड कश्मीर हैं । अगर हम सम्पूर्ण कश्मीर को राज्य के रूप में लें तो भारत का अंतिम छोर ‘कंजुट के बेइक पास के निकट तघदुमाश का दफ़्तर माना जा सकता है ।’ वैसे अभी ये चीन के झीनजियाङ प्रान्त के प्रशासनिक कब्ज़े में है ।
alignment_official_pakistan_map_1962

4-दक्षिण – भारत का अंतिम छोर कन्याकुमारी है । कन्याकमारी जिसे केप केमोरिन भी कहा जाता है ।
इंदिरा पॉइंट, ग्रेट निकोबार आइलैण्ड की सूदूर ज़मीन भारतीय अंतिम छोर था । 2004 में हिन्द महासागर में आयी सुनामी ने इसे सागर में समा लिया था ।kanyakumari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *