ओए न्यूज़

इसलिए पीएम मोदी नहीं लेते एक दिन की भी छुट्टी

नवंबर 18, 2018 ओये बांगड़ू

हमारे देश के प्रधानमंत्री, 18 घण्टे काम करते हैं, एक भी दिन छुट्टी नही लेते जैसे मेसेज आप अक्सर अपने व्हाट्सअप में देखते होंगे  इलेक्शन के आस पास तो ऐसे मैसेज की  बाढ़ से आ जाती है ,तो  हो सकता है वर्क डेडिकेशन को जबरदस्त तरीके से सराह कर आगे मैसेज फारवर्ड करने का धर्म भी निभाते होंगे।

ये एक ऐसा मैसेज था जिसने व्हाट्सप के माध्यम से ऐसा जबरदस्त प्रचार पाया कि हम सब प्रधानमंत्री को एक सामान्य क्लर्क मान कर चलने लग गए। हमें लगने लगा कि इनकी भी सीएल होती होगी, ईएल होती होगी फिर सिक लीव अलग से होती होंगी। मतलब कुल मिलाकर एक क्लर्क की तरह ही पीएम भी काम करते होंगे। आज राष्ट्रपति को एप्लिकेशन दे दी।

सेवा में श्रीमान,

राष्ट्रपति महोदय,

सविनय निवेदन इस प्रकार है कि कल रात से बुखार होने के कारण मैं आज पीएमओ दफ्तर नही आ पाऊंगा, इसलिए कृपया आज के लिए मुझे छुट्टी दे दी जाए

आपका आज्ञाकारी

प्रधामनंत्री

मगर आपसे भूल हो गई, अगर आपने पीएम की छुट्टी वाला मैसेज कभी भी किसी को भी फारवर्ड किया है तो तुरन्त माफी मांग लो। हो सकता है माफ कर दिए जाओ।क्योंकि इसको पढने के बाद संविधान में माफी का कौनो कांसेप्ट नही है राजा।

तो जनाब, पीएम कोई क्लर्क नही है, पीएम पीएम होता है, एक ऐसी पोस्ट जो कभी खाली नही हो सकती और नाही कभी छुट्टी पर जा सकती है। भारत के संविधान के अंदर कुछ पद ऐसे हैं जिन्हें खाली रखना नामुमकिन है।

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ये दो पद भी उन्ही कुछ पदों में एक हैं। ये 24×7 ऑन ड्यूटी रहने वाली पोस्ट है। कायदे से संविधान के हिसाब से चलेंगे तो पाएंगे कि इन दो पदों पर बैठे आदमी हर समय ऑनलाइन(सौरी ऑन  ड्यूटी होता है) होता है।

आप किसी भी समय ट्वीट करवा लो(अब प्रेस कांफ्रेंस तो होती नही हैं)

पीएम मोदी के पीएम बनने के बाद ऐसे कई सारे झूठ थे जो अचानक उनके बारे में फैलाये जाने लगे। इससे किसका भला हुआ ये तो नही पता, मगर कुछ आरटीआई एक्टिविस्ट लोगों को काम मिल गया और उन्होंने तुरंत आरटीआई लगाई कि बताओ पहले वालों में कितनी और कब कब छुट्टी ली है।

खैर अब जब सच्चाई पता लग गई हो तो पीएम मोदी के बारे में इस झूठ को और ज्यादा मत फैलाना कि वह छुट्टी नही लेते। अरे वह छुट्टी ले लेंगे तो देश छुट्टी पर चला जायेगा। पूरे देश की जिम्मेदारी होती है पीएम पर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *