गंभीर अड्डा

अब मनचलों को मुहतोड़ जवाब देंगी छोरियां

जनवरी 20, 2017 ओये बांगड़ू

देश में आए दिन होने वाले छेड़ छाड़ के मामलों के बीच, आत्मनिर्भर और आत्मविश्वास के साथ जीने के लिए आत्मरक्षा के गुर सीखना हर महिला के लिए जरुरी हो चला है. इन दिनों सुल्तानपुरी में 15 दिवसीय आत्मरक्षा शिविर का आयोजन किया जा रहा है. ताकि हर महिला अपने सपनों को पूरा करने के लिए बेझिझक और निडर हो कर एक ऊँची उड़ान भर सकें.

सुल्तानपुरी-स्पेशल पुलिस युनिट द्वारा टाटा पावर दिल्ली डिस्ट्रीब्यूशन और  डी.ए.वी एजुकेशनल एण्ड वैलफेयर सोसायटी के सहयोग से सुल्तानपुरी पी-4 ब्लाँक वोकेशनल ट्रेनिंग सेन्टर में मंगलवार से सेल्फडिफेन्स ट्रेनिंग की शुरुआत की गयी है. इस आत्मरक्षा शिविर में छात्राओं एंव महिलाओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाये जा रहे हैं. इसका मुख्य उद्देश्य महिलाओं एंव छात्रा को किसी भी परिस्थितियों के लिए तैयार करना है और उन्हें आत्मनिर्भर बनाना है।

दिल्ली पुलिस की कांस्टेबल हेमलता एंव मुनेष इस शिविर में महिलाएं और लड़कियां को न सिर्फ अपने हाथ पैरों से बल्कि हर दिन इस्तेमाल में आने वाली चीजों जैसे कलम,पेन्सिल,किताब और यहाँ तक की सेफ्टी पिन का इस्तेमाल कर किस तरह आत्मरक्षा कर सकती है इसके गुर सीखा रही हैं.

डी.ए.वी एजुकेशनल एण्ड वैलफेयर संस्था की अध्यक्षा राधा भारद्वाज बताती है कि इस तरह के शिविर में सभी को भाग लेना चाहिए और आत्मरक्षा के गुर सीखने चाहिए.15 दिन चलने वाले इस शिविर के द्वारा महिलाओं को खुद की रक्षा कैसे करना है वो सिखाया जायेगा. कभी महिलाएं या लड़कियां अकेले फंस जाये और उनके साथ कुछ अनहोनी की आशंका हो तो उस परिस्तिथि से वो कैसे बाहर निकले इसका भी तरीका बताया जायेगा. पहले भी हमारी संस्था द्वारा ऐसे शिविरों का आयोजन कर महिलाओं को निडर और आत्मनिर्भर हो कर जीने के गुण सीखाती आ रही हैं.

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *