यंगिस्तान

ठग्स ऑफ हिंदोस्तान: अरे कति ए ठग लिए

नवंबर 8, 2018 ओये बांगड़ू

दिवाली के बाद बॉलीवुड का मचअवेटेड धमाका देखन खातिर गई जनता नै फूस बम देखन नै मिला. ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तान’ मूवी  आज रिलीज़ हो गयी और एक मशहुर कहावत नै सच कर गी अर वा है ‘ऊँची दूकान फीके पकवान’ फिल्म म्ह कति जोर की स्टारकास्ट भरी पड़ी है. एक्शन है, ड्रामा है और सपना चौधरी नै टक्कर देता कैटरीना का कसुता डांस है पर फेर भी ऑडियंस सिनेमा हॉल मह बाहर निकलन ताई दरवाजे पीटे थी अर बाहर निकल कै सोशल मीडिया पै मीम्स बना- बना फिल्म की भद्द पीटन लाग री सै.

आमिर खान, अमिताभ बच्चन, कटरीना कैफ, फातिम सना शेख आली इस फिल्म नै देखन खातिर लोगों में जबरदस्त क्रेज था. विजय कृष्ण आचार्य नै निर्देशित करी है पर फिल्म की स्टोरी लाप्तागंज म्ह गुम निकली. वैसे फिल्म बॉलीवुड के सबसे धांसू मुद्दे पै बनी है अरे वो ही जो तीन बार सुना करे-बदला,बदला और बदला. अर तै फिल्म सै 1795 के उस दौर की जब हमारे देश म्ह फिरंगी हुकूमत का राज शुरू हो गया था. अंग्रेजों के कब्ज़े तै कुछ ही रियासत बची थी अर उस मह तै एक थी रियासत रौनकपुर, बस फेर के था अंग्रेज कमांडर जॉन क्लाइव (लॉयड ओवेन) ने धोखे तै उस पै भी कब्जा कर लिया.

दरअसल रियासत रौनकपुर का राजा मिर्जा सिकंदर बेग (रोनित रॉय) फिरंगी हुकूमत के खिलाफ बगावत कर दे है फेर अंग्रेजी अफसर क्लाइव धोखे तै न सिर्फ  मिर्जा साहब का राज-पाठ हथिया ले है बल्कि उनके पूरे परिवार नै मार दे है.लेकिन राजा की बेटी जफीरा (फातिमा सना शेख) नै राज्य का वफादार खुदाबख्श आजाद (अमिताभ बच्चन) बचा कै ले जावे है. अर जबरदस्त ढंग तै बदला लेन ताई ट्रेंड करे है .इसके बाद पूरी फिल्म खुदाबख्श और जफीरा के बदले की कहानी है. हाँ बदला लेन मह एक और बंदा शामिल  हो जावे है फिरंगी मल्लाह (आमिर खान).इब आमिर खान नै कैसे कैसे मदद करी यो देखन खातिर सिनेमा हॉल चले जाइयो.

वैसे सोशल मीडिया पै लोग फिल्म नै वाहियात, बोरिंग और फ्लॉप की उपाधि देन लग रे है. लेकिन दिल खोल कै रपिये पानी की तरह बहा कर बनाई गयी या फिल्म बढ़िया स्टंट बाज़ी ,विजुअल्स और बेकार कहानी पै बढ़िया एक्टिंग खातिर भी देखा जा सकती है लेकिन सिर्फ और सिर्फ अपने रिस्क पै.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *