यंगिस्तान

रपट- रैनसमवेयर की

मई 16, 2017 Girish Lohni

रैनसमवेयर वायरस की रपट भारतीय थाने पहुंचने पर एक संवाद. रैनसमवेयर की रपट का भारतीय थाने में पहुंचने से लेकर थाने में साइबर सेल की मौजूदगी, थानेदार का बिना डंडे के संवेदनशील व्यवहार, बिना लेन-देन के काम आदि सभी काल्पनिक है.

पीड़ित- बचाई लियो महाराज हमका बरबाद होने से बचाई लियो.

थानेदार- अबे बिल-बिलाना बन करो पहिले बैयठो और बताओ की बात का हो गयी.

पीड़ित- सरकार हमार जिंदगी किडनेप हो गयी.

थानेदार- बच्चा की लुगाई.

पीड़ित-  कम्पूटर.

थानेदार- अबे कम्पूटर चोरी है गया बोलो किडनेप नहीं.

पीड़ित- कम्पूटर तो घर पे धरा है.

थानेदार- तो साले किडनेप कौन है गो.

पीड़ित- कम्पूटर

थानेदार-अबे तुम पगलाय गये हो की हमका पगला रहे हो.

पीड़ित- फिरौती मॉगी है.

थानेदार- अबे जब कम्पूटर घर पे धरा है तो कै बात की फिरौती.

पीड़ित-  ताला ठोक गयो है कम्पूटर में.

थानेदार- अबे तो मारो छिनी-हथौडी.

पीड़ित-  कम्पूटर ना फूट जाओगा.

थानेदार- तो डुब्लीकेट चाबी बनाई लो.

पीड़ित-   आप ना समझोगे आप रपट लिखो.

थानेदार- अबे रपट में का लिखू चोर कम्पूटर में ताला लगा भाज गयो और अब फिरौती मागे है.

पीड़ित-  एकदम सही.

थानेदार- तो बता कितना फिरौती मांगी है.

पीड़ित-  बीस हजार का बीट-काईन.

थानेदार- ससुरे तुम सुबे-सुबे सुल्फा खा गये हो का बे.

पीड़ित- का बात करत हो सरकार.

थानेदार- तो साले होस की गोली खाओ और बताओ कौन देश की बात कर रहे हो.

पीड़ित- अरे साहब देश नहीं पता लेकिन नाम रेनसमवेयर बताय है.

थानेदार- रेनसमवेयर.. फिरंगी लगता है.. आदमी है की औरत.

पीड़ित-  का मालूम.. चिट्ठी छोड़ गया है.

थानेदार- दिखाओ.

पीड़ित- कम्पूटर में है. कहता है डाटा क्लाउड में रखा है.

थानेदार- क्लाउड में.

पीड़ित- हाँ.. तीन दिन का भीतर पैसा दो डाटा छुडाओ.

थानेदार- अबे तुम पहले कन्फर्मया लो कि डाटा किडनेप का रिपोर्ट लिखाना है की कम्पूटर किडनेप का.

पीड़ित-  कम्पूटर तो हमारे ही घर पर है तो ई लिहाज से डाटा का बना.

थानेदार- तो कन्फर्म हो ना.

पीड़ित- जी.

थानेदार- तो डाटा का डिटेल दो.

पीड़ित-  कुल मिलाकर चार ठो डिराईव है.

थानेदार- ई एफ डी और सी.. भीतर का डिटेल दो.

पीड़ित-  जादा तो कछु नाही ई डिराईव फुल हिन्दी सिनेमा. एफ डिराईव में आधा में गाना बाकि बचा में परिवार का शादी बिआह का फोटू हनीमून समेत. बच्चा लोगन का मुंडन, बाऊजी का वैसनो देवी यात्रा और लोकल मुजिक डी डिराईव में और सी में ना जाने कौ-कौन पिरोग्राम फाईल जैसा कुछ-कुछ. सो सी डिराईव नहीं भी मिले तो चलेगा.

थानेदार- अंग्रेजी फीचर नहीं रखे हो का.

पीड़ित- उ तो 10 रुपया कापी में फिर से भराय जायेगा. बस थोड़ा बाहुबली का दिक्कत है पिछली बार भी साला पच्चीस रुपया लिया था भरने का.

थानेदार- वो सब छोड़ो.. हम साइबर सेल में तुम्हारा रिपोर्ट दर्ज कर रहे हैं. एक सेटअप लगेगा तुम्हार घर पर. जइसे किडनेपर काल करे तीन मिनट तक बातन में उलझा के रखो धर लेंगे लोकेसन. फिर हमार दुनली उका खोपड़ी. हम भी देखे हमार थाना क्षेत्र में हमारी जानकारी के बगैर कौन विदेशी लूट मचा रहा है.

पीड़ित- पर उ तो क्लाउड से कॉल कर चुका.

थानेदार- अरे मुआ बिट-काइन धरने की जगह बताने को तो कॉल करेगा.. वैसे कौन धर गये थे तुम पर यो बिट-काइन.. पुश्तैनी तो ना लगता.. कोनौ विदेशी रिश्तेदार चिपटा गया होगा सरदर्दी.. रिश्तेदार होते ही बला का दूजा नाम हैं.

पीड़ित- अरे उ सब क्लाउड में होगा.

थानेदार- ओह तो मामला थाना क्षेत्र से बाहर का है. रिपोर्ट यहॉ ना लिखी जा सकती. मुख्य थाना में सम्पर्क करो… हॉ भई यादव.. भेज अगले को इनका निपट गयो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *