गंभीर अड्डा

पाब्लो-जिसकी रियल लाईफ को बालीवुड ने भुनाया

अक्टूबर 25, 2018 कमल पंत

रईस का शाहरुख़ खान हो,डान का अमिताभ बच्चन या फिर किसी अन्य ड्रग माफिया वाली फिल्म का ड्रग डीलर बालीवुड ने अक्सर ‘पाब्लो एस्कोबार’ से प्रभावित होकर अपने किरदारों का चरित्र चित्रण किया. पाब्लो एस्कोबार जिसे आपराधिक दुनिया का सबसे प्रभावी गुंडा माना जा सकता है,जिसे ‘दुनिया का सबसे बड़ा अपराधी’ भी कहा गया और जिसने खुद को खुद के दम पर इस मुकाम में पहुंचाया कि उसे लोग भी मिले पैसा भी और दुश्मन भी. वह कहा करता था कि ‘मुझे कभी कभी लगता है कि मैं भगवान हूँ,अगर मैं कह रहा हूँ कि कोइ आदमी मर रहा है तो वह मर जाता है ‘ ये दर्शाता है कि पाब्लो किस कदर पैसे और पावर के दम्भ में चीजें बोलता था.पाब्लो को बालीवुड ने अपनी फिल्मों में अलग अलग रूप में कई बार दिखाया ,पाब्लो के बारे में पढ़कर पता चलता है कि बालीवुड की 80 90 दशक की अधिकाँश फिल्मों के विलेन पाब्लो के कापी ही थे. फिल्म भले ही दाउद या मुम्बईया डान पर बन रही हो चरित्र चित्रण एकदम पाब्लो की तरह किया जाता था.ये ट्रेंड आज भी बरकरार है,रईस का शाहरुख खान इसका सबसे बड़ा उदाहरण है.

पाब्लो एक गरीब किसान के यहाँ पैदा हुआ था,छ भाई बहनों में एक था,बचपन में बड़े भाई को जूतों की वजह से स्कूल से निकाल दिया और बड़े होकर उसने खुद पैसों की कमी के चलते स्कूल छोड़ दिया,जैसे जैसे आप पाब्लो के बारे में जानते जायेंगे आपको लगेगा कि मैं कोइ बालीवुड फिल्म की स्टोरी सुना रहा हूँ,जी बालीवुड की अधिकतर फिल्मों में यही सब तो होता है.1949 में पैदा हुए पाब्लो ने 20 साल का होते होते कार चोरी में पीएचडी कर ली थी,तस्करी के नए नए आईडिया उसके दिमाग में एसे आते थे जैसे इस उम्र के बच्चों के दिमाग में लडकी पटाने के आते हैं. रईस का शाहरुख खान जैसे शराब गुजरात लाने के नए तरीके सोचता है वैसे ही पाब्लो वैसा ही था लेकिन नेशनल लेवल पर,यूएसए के अंदर 80 प्रतीशत कोकेन उसके द्वारा भेजी जाती थी.ड्रग्स माफिया था और वह भी कोइ छोटा मोटा नहीं इतना बड़ा कि सिर्फ नोटों की गड्डी बाँधने के लिए हर हफ्ते हजार डालर रबर बैंड पर खर्च कर देने वाला.

पाब्लो के पास ड्रग्स सप्लाई करने के हमेशा नए आईडिया रहते थे,मछली में मिक्स करके,केकड़ों के अंदर छिपाकर,हवाई जहाज के टायरों में छिपाकर वगेरह वगेरह,और इन सबके अलावा वह एक पूरा एयरक्राफ्ट रखा करता था कोकेन के सप्लाई के लिए,उसके कई बिलियन डालर हर साल चूहे खा जाते थे,फ़ोर्ब्स ने उसे जब सातवाँ सबसे अमीर आदमी घोषित किया 30 बिलियन की सम्पति के साथ तब उसके भाई राबर्टो ने कहा कि फ़ोर्ब्स वाले अभी तो बस कुछ परसेंट देख पायें हैं.एक देश का पूरा कर्ज चुकाने की पेशकश करने वाला आदमी कितना अमीर होगा ये कल्पना की जा सकती है.

पाब्लो ने अपने आस पास एसे लोगों को जोड़ रखा था जो उसके लिए अपनी जान भी दे सकते थे,पाब्लो का सार्वजनिक जीवन सिर्फ उसके पैसों की वजह से बढ़िया नहीं था बल्कि उसकी राबिनहुड इमेज के कारण बढिया था,उसने उन सब लोगों की मदद भी की जो उसके आस पास थे एक पूरा शहर मेडेलिन आज भी पाब्लो को भगवान मानता है जिसने उनके लिए बहुत कुछ किया ये वह लोग थे जिनके बीच पाब्लो रहता तो शायद ज़िंदा होता.

लेकिन इन सबके बाद पाब्लो एक खूंखार हत्यारा भी था,ड्रग्स के कारोबार में उसका साफ़ उसूल था “प्लाटा ओ प्लोमो?” – लिट. “सिल्वर या लेड?”मतलब या तो पैसे लेकर मुंह बंद कर लो या मौत को गले लगाने को तैयार हो जाओ.उसने  कई सरकारी अधिकारियों को सिर्फ इसी वजह से मार दिया या मरवा दिया क्योंकि वह उसके कारोबार के आड़े आ रहे थे.उसके खिलाफ जिस कोर्ट में मुकदमा चल रहा था उसने उस     कोर्ट को ही उड़ा दिया नतीजन सैकड़ों जज और वकीलों के साथ साथ निर्दोष लोग भी मारे गए.

उसे अपने किये पर कभी पछतावा नहीं हुआ वह कहता था ‘सभी साम्रज्य रक्त और आग से बने हैं ‘ उसने अपने लिए एक शानदार एस्टेट बनाया जिसमे झील चिढ़ीयाघर और मनोरंजन के लिए बहुत सारी चीजें मौजूद थी.

वह अपने परिवार को बहुत प्यार करता था,कहते हैं कि एक बार जब वह पुलिस से भाग रहा था तो उसकी बेटी को बहुत सर्दी लग रही थी,उसने अपने पास बैग में रखे कई हजार बिलियन डालर सिर्फ इसलिए जला डाले ताकि उसकी बेटी को सर्दी न लगे.

उसके गोदामों में नोटों की गड्डियां भरी रहती थी,कई अस्पताल,चर्च और छोटी छोटी कालोनियां उसने यूं ही अपने आस पास के लोगों को खुश करने के लिए बना डाली थी,मेडेलिन में जिस चीज की कमी होती उसे पूरा करवाने के लिए लोग सरकार के पास नही बल्कि पाब्लो के पास जाया करते थे,और सबको पता था कि पाब्लो उन्हें कभी निराश नहीं करेगा,स्कूल सडक बिजली जैसी आधारभूत चीजें जो सरकार की जिम्मेदारी होती थी उन्हें पाब्लो खुद से पूरा कर दिया करता था.

इसके अलावा पावर के नशे में वह बहुत सारे दुश्मन भी बनाता चला गया था,उसने कोलम्बिया के प्रेसिडेंट इलेक्शन के उम्मीदवार को हवा में ही मरवा दिया और उसके साथ मरे 200 लोग,उसने पूरे हवाई जहाज को हवा में ही ब्लास्ट करवा दिया.

उसके किये हर काम में उसके आस पास के लोग उसका पूरा साथ देते उसके खिलाफ कभी कोइ सबूत नहीं मिल पाता.उसके कारोबारी दुश्मनों ने उसे मारने के लिए पूरी सरकार से ही संधी कर ली और सेना को खुद फंड करने लगे.पाब्लो को मरवाने के लिए स्पेशल टीम जो गयी उसका नाम ही लॉस पेप्स था जिसका मलतब था पाब्लो द्वारा सताए हुए,ये लोग पाब्लो को मारने के लिए जूनूनी हद तक पागल थे.सरकार का पूरा समर्थन इन्हें था और सरकार की नजर में ये एक अपराधी को मारने निकले थे जिसके सर हजारों खून का आरोप था.

पाब्लो को मारने के लिए उसके फोन सिग्नल रेडियो के जरिये सुने जाने लगे थे,आर्मी जनरल के नालायक बेटे (जिसके बारे में कहा जाता था कि वह बस अपने पिता के दम पर आर्मी पर है ) ने ही उसकी सही लोकेशन लॉस पेप्स को दी जिन्होंने बाद में उस जगह पर घुस्कार भागते हुए पाब्लो को गोली मारी,हालांकि इस पर भी कन्ट्रोवर्सी रही हमेशा क्योंकि पाब्लो के कान के पास गोली लगी थी और ये कहा जा रहा था कि पाब्लो ने खुद को गोली मार ली .

पाब्लो एकलौता एसा करेक्टर रहा जिसे पूरे विश्व ने अपनी अपनी सिनेमा में अलग अलग नामों से दिखाया,पाब्लो के स्टायल को पाब्लो की अकड को,पाब्लो की थ्योरीज को जगह जगह फिल्मों में बहुत इस्तेमाल किया गया. वह कोइ छिपकर रहने वाला गुंडा नहीं था.खुलकर सामने आने वाला अपराधी था जिसे एक पूरे शहर के लोगों ने हाथों हाथ लिया था,एक पूरा देश उसके दिए कोकेन पर पल(मर) रहा था. उसने अपने लिए खुद जेल बनाई,उसने खुद को राबिनहुड बनाया,उसने खुद अपने लिए कब्र खोदी और खुद यूएसए जैसे देश की आँख की किरकिरी बना रहा.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *