ओए न्यूज़

मैच के बाद डाईरेक्ट ड्रेसिंग रूम से

जून 20, 2017 ओये बांगड़ू

विनोद पन्त ने इण्डिया पाकिस्तान के मैच के बाद का हाल बताया है डाईरेक्ट ड्रेसिंग रूम से ,आप भी पढ़िए

व्यंगकार विनोद पन्त

पाकिस्तान दगाड हार बाद भारताक ड्रैसिग रूम में गजब माहौल हई भै .(पाकिस्तान के साथ हार के बाद ड्रेसिंग रूम में गजब का माहौल था )
हार्दिक पड्या और जडेजा में अंगाईजित्ती हई भै . पड्या जडेजा कि दाढी उचेडन लागी भै और जडेजा लि पड्या क हाथ में दातिंकि काटि बेर खून्योई करी भै . बुमराह उनन कैं छूटूण में लागि भै .मारामारी में एक लात बुमराह पेट में पडि गे . बुमराह पीडैलि बौई गे और मरो काणीच्यालो आपस में कैबेर द्वि द्वि फचैक द्विनै लै लगै बेर जानै रय .(पांड्या और जडेजा में कुश्ती चल रही थी ,पांड्या जडेजा की दाड़ी नोच रहा था,और जडेजा ने पंड्या के हाथ दांत काटकर खून निकाल दिया था,बुमाह उन्हें छुटाने में लगा था,मारामारीमें एक लात बुमराह में भी पड़ गयी )

एक किनार में धोनी में पहाड़ी गीत सुणन लागि भै – ओ लाली हो लाली होसिया .. पधानी लाली तीलै धारो बोला . कुम्बले आपुण कच्छ अन्डरशौर्ट तार बटी निकाल बेर नौव उज्याण बाट लागि गे नाणा लिजी . रोहित शर्मा क अलगै डाड. पडी भै .(एक कोने में धोनी पहाडी गीत सुन रहा था “ओ लाली हो लाली होसिया .. पधानी लाली तीलै धारो बोला ” कुंबले अपने कच्छे बनियान के साथ नहाने को रास्ता लगा हुआ था ,रोहित शर्मा की अलग ही रुदाली फूटी थी )

युवराज – यार घोनी तौ हर बखत पहाड़ी गीत नै चलाई कर . पंजाबी लगा दिलेर मेहंदी या हनी सिंह टाईप .(यार धोनी ये हर समय पहाडी गीत ना सूना कर ,पंजाबी लगा दिलेर मेहंदी या हनी सिंह टाईप )

धोनी – चुप हैरौ रे . रन बणूण बखत तेर भेल कामनन . दिलेर मेहंदी सुणनै हैरै .. तु अल्ताफ राजा सुण .(चुप हो जा ,रन बनाते समय तो जान जाती है ,दिलेर मेहंदी सुनेगा तू ,जाकर अल्ताफ राजा को सुन )

युवराज – त्वील बड. फाडी लाकाडाक चार करन.. बात करनौ. लड्डू जस कैच उछालौ त्वील .(तूने बड़ा एक चोट से चार टुकड़े किये लकड़ी के, बात करता है ,लड्डू जैसा कैच उछाला तूने )

बिराट – यार धोनी दा . लडै नै करो यार .मी कप्तान भयूं . मेरि बात तो मानो .(यार धोनी दा लड़ाई मत करो ,मैं कप्तान हूँ मेरी बात मानो )

धोनी – कप्तान ऐरौ बड चुरैन साल् .. उ तो फील्ड में मी जरा तेरि लाज धरि द्यूं . नतर पत्त लाग जान कदुक बीसी सैंकड हुनी कैबेर . बेई पैद हई रनकौर ..(बड़ा आया कप्तान ,वो तो फील्ड में मै तेरी लाज रख लेता हूँ ,नहीं तो पता चल जाता क्या होती कप्तानी ,कल का पैदा हुआ छोरा )

युवराज – एकतैसि में गये तू कप्तान .. हर बखत माचीन पितीन रूंछै .. तसिके हुंछी कप्तानी .. यो धोनी कैं नै देखै त्वील .. कस हैरूछी ठण्ड .(एसी की तैसी तुझ कप्तान की ,हर समय चिढा रहता है ,इस धोनी को नहीं देखा तूने ,कैसा कूल हुआ रहता था )

बिराट – तु हाकाहाक नै कर रे . म्यार वील टीम में छै . नतर ऐल तक कति पंजाबी ढाबा खोलबेर चिकन तन्दूरी बेचण लागि रूनै . जो धोनी कि तारीफ करण लागि रौछै वीले करौ त्वेकैं टीम बटी भ्यैर .. सांचि नै मानने आपुण बाब् योगराज का छैं पुछ लिये .(तू हल्ला नहीं कर रे ,मेरी टीम में है, नहीं तो अभी तक कहीं पंजाबी ढाबा खोलकर चिकेन तन्दूरी बेच रहा होता .जिस धोनी की तारीफ़ कर रहा है उसने तुझे टीम से बाहर कर दिया था यकीन न हो तो अपने बाप योगराज से पूछ लेना )

( तब तक नै ध्वे बेर कुबले ले ऐ गे )(तब तक नहा धो कर कुंबले आ गया )

कुंबले – ततु हाकाहाक कि हैरै रे . मैदान में तुमरि बिती भूस ले नै बुकाईन .. यां काटाकाट किलै हैरै(इतना हल्ला क्यों मचा रखा है ,मैदान में तुमसे कुछ होता नहीं यहाँ तूफ़ान मचाये हो )

बिराट – कोच सैप मेरि खाप नै खुलवाया . जभत करै रणनीति बडून भई उ बखत टेडी जस रूंछा .. ऐल कोचगिरी दिखूण लागि रौछा … आब चार दिना क मेहमान छा . भला मुखैलि आपुण बोझ बिस्तर लपेटो और हिट दिओ .(कोच साहब मेरी जुबान मत खुलवाओ ,जब रणनिति बनाने का टाईम आया उस समय चुप थे .अभी कोचगिरी दिखा रहे हो ,चार दिन के मेहमान हो ,अच्छे मुंह से अपना बोरा बिस्तर समेटो और चले जाओ )

बिराट ( धोनी छैं ) – यार धोनी दा .. कि कारण छी आज हम किलै हार हुनेल्यां ..कि सुधार करी जाओ(यार धोनी दा , क्या कारण है ,क्यों हारें होंगे हम ,क्या सुधार किया जाए ?)

धोनी – सुधार कि करछै .. पैली आपुण शकल ठीक करो कुकुरीच्यालो .. बोकियकि जसि दाढि धरि लिरीन कठु साल .. खिलाडी कम और बगदादी ज्यादा लागण लागि रौछा ..(सुधार क्या करता है ,पहले अपनी शक्ल ठीक करो कुत्ते के बच्चों ,बकरे की जैसी दाड़ी रख रखी है ,खिलाड़ी कम बगदादी ज्यादा लगते हो सब )

बिराट – फैशन भै दा……(फैशन हुआ दा )

धोनी – तुमरि गति लागि जौ तौ फैशन .. सब सालनैकि शकल एकनसी लागैं .. जडेजा छै . जाधव छै . बिराट छै को छ कै पत्तै नि लागन . पैलि दाढी कटाओ तौ .. और बाल ले सही करो .. चारों तरफ यस लागौं जसि बाकरैलि चरि राखौ और बीच बरमान में हरयाव जाम् रौ ..खिलाडी कम कारटून ज्यादा लागण लागि रौछा … अगर मी ऐल कप्तान हुन्यू या श्रीनिवासन सैप बोर्ड में हुना तो तुमरि सबनैकि तामि खोरि करि दिन्यूू .(तुम्हारी एसी की तैसी फैशन ,सब सालों की शक्ल एक जैसी लग रही है ,कौन जाधव कौन जडेजा कौन विराट पता ही नहीं चल रहा ,पहले दाड़ी कटवाओ ,और बाल सही करो, एसा लग रहा था चारों तरफ बकरे घूम रहे हैं और बीच में हरेला (हरी घास) जमा कर रखी है ,खिलाड़ी कम कार्टून ज्यादा लग रहे हो ,अगर मैं कप्तान होता या श्रीनिवास साहब बोर्ड में होता तो तुम सबको टकला करवा देता )

(भ्यैर ढोल दम्मू बाजणै आवाज उण लागि अचानक .. पाकिस्तान वालनाक छलडी बाज लागि भ्यो .. तुरी बीनबाज रणसिंग भुंकर बााजण लागि भै )(बाहर से अचानक दम्मू बजाने की आवाज आने लगी ,पाकिस्तान के लोगों ने छलड़ी बाजा लगाया था ,मशकबीन बज रही थी, भोंपू बज रहा था )

सरफराज भारताक ड्रैसिम रूम में ऐबेर – (सरफराज भारत के ड्रेसिंग रूम में आकर )
हैलो धोनी दा . हैलो बिराट … लिओ रे … ठर्रा पिओ आज मेरि तरफ बटी .. तुमर ले गम गलत है जाल … ला रे हसन .. हफीज .. पाणि ला रे प्याज ला ..(हेलो धोनी दा ,हेलो विराट ,लो ,ठर्रा पियो आज मेरी तरफ से ,तुम्हारा गम कम होगा )

 

धोनी -हट कुकर साल .. कम से कम आज तो इगलिस पी लिनै .. प्याज दगाड ठर्री पीण लागि रौछै …(हट कुत्ते साले ,कम से कम आज तो इंग्लिश पी ,प्याज के साथ ठर्रा पी रहा है आज भी )

सरफराज – यार तदुक डबल कां दी हमर बोर्ड ..सरकार … वां बम बणूण मुश्किल हैरै . अमेरिका वालनैलि तनखा कम करि हाली … तदुक अकर इंगलिस को पी सकौं .. फिर नस्स तो यमैं बाकि भै .. एकाद हमार दगाड .. अत्तरी ले छन .. उ आसिफ लत लगै गो .. तुमन तो मालूमै हुनेल अत्तर सौ रुपै कि एक बीडि माल उं ..(यार इतने पैसे कहाँ देता है हमारा बोर्ड की इंग्लिश पियें .,वहां बम बनाने में मुश्किल हो रही ,वहां तो बड़ी मुश्किल है ,अमेरिका वालों ने तनखा कम कर दी है ,इतने में इंग्लिश कहाँ से पियें,वैसे भी इसमें नशा ज्यादा हुआ ,हमारे साथ एक दो अत्तरी भी हैं )

 

बिराट – ऐ .. तौ हटा यां बटी …बदबू निकालि हाली कच्ची कि पुर रूम में ..(ए ये हटा यहाँ से , बदबू आ गयी पूरे रूम में कच्ची की )

और आज फादर्स डे छी .. भारत वाल बाब् भै तुमार .. हारि जाना .. हमन जीत क गिफ्ट दिना ..(और आज फादर्स डे था ,भारत वाले बाप हुए तुम्हारे ,हार जाते ,हमें जीत का गिफ्ट दे देते )

सरफराज – ठीक कौ .. भारत हमर बाबू भै … पर तुमैलि हमर इतिहास नि पढ शैद .. हम तो बाब् कैं मारि बेर गद्दी छीनडीं जाति क भयां … आज फादर्स डे पर आपुण बाब् कैं रघोड बेर कप पर कब्ज करि हालौ .. अब बोलो … पाकिस्तान बेटे की …(ठीक कहा,भारत हमारा बाप हुए ,पर त्तुमने इतिहास नही पढ़ा शायद ,हम तो बाप को मारकर गद्दी लेने वाले हुए ,आज अपने बाप भारत को रगड़ कर ट्राफी ले ली अब बोलो पाकिस्तान बेटे की )

धोनी -थू उउउउउउउउ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *