ओए न्यूज़

करवाचौथ स्पेशल ‘पतिदेव की आरती’

अक्टूबर 19, 2016 ओये बांगड़ू

करवाचौथ  के दिन पति  नामक  प्राणी  देवता बन जाता है . हाँ  ये अलग बात है कि  इस देवता की  आरती  और इज्जत का आॅफर  सिर्फ एक ही दिन का होता है. तो इस करवाचौथ  पर पति देव की एक स्पेशल आरती  सोशल मीडिया की दुनिया में खूब जोर-जोर से बज  रही है बांगड़ू ने सोचा  आपको भी इस से रूबरू करा  दे . बाकि पत्नी जी की भगति के बारे में तो पुरे साल बात करते ही रहेंगे

 

मैं तो आरती उतारूँ रे, बच्चों के पापा की।

जय हो हजबैंड, तेरी जय जय हो…

जय हो हजबैंड, तेरी जय जय हो…

बड़ी पूँजी है बड़ा-बड़ा कैश इसके बटुए में।

जिंदगी के हैं सारे ऐश इसके बटुए में।।

क्यूँ न झाँकूँ मैं बारम्बार इसके बटुए में।

दिखे हर घड़ी मॉल और बाजार इसके बटुए में।।

नृत्य करूँ झूम-झूम, बटुए को चूम-चूम,

बेलन ना मारूँ, आज इसे बेलन ना मारूँ रे…

मैं तो आरती उतारूँ रे, बच्चों के पापा की।।

सदा होती है जय-जयकार मेरे हजबैंडवा की।

पर नारी पे टपके ना लार मेरे हजबैंडवा की।।

हो सबसे निराली कार मेरे हजबैंडवा की।

कभी इज्जत न हो तार-तार मेरे हजबैंडवा की।।

जो कमाए मुझे दे दें, जो भी दूँ हँसके ले ले

स्वामी पुकारूँ रे… कल ‘टॉमी’ पुकारूँ रे….

मैं तो आरती उतारूँ रे, बच्चों के पापा की।।

हम हैं पत्तल तो तुम दोना, पति परमेश्वरजी।

हमसे कभी ना खफा होना, पति परमेश्वरजी।।

हम जो मारें तो मत रोना, पति परमेश्वरजी।

सबके कपडे सदा धोना, पति परमेश्वरजी।।

नौकर तुम, जोकर तुम, शोफर तुम, शौहर तुम

आठ आने वारूँ रे, तुम पे आठ आने वारूँ रे।।

मैं तो आरती उतारूँ रे, हजबैंड प्यारे की….

मैं तो आरती उतारूँ रे, बच्चों के पापा की।

जय हो हजबैंड, तेरी जय जय हो…

जय हो हजबैंड, तेरी जय जय हो.

 

बोलिये मेरे बच्चों के डैडी की जय

मेरे पत्ति देव कि जय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *