यंगिस्तान

जोहान्सबर्ग से चिट्ठी -22

नवंबर 21, 2016 ओये बांगड़ू

किसी अनजान देश की राजधानी , कम आबादी के फायदे वगेरह जानने में एक अजीब सी उत्सुकता रहती है और जब कोइ अपने देश का बाशिंदा उस दुसरे देश में रहकर वहां की चीजों को महसूस करके हमें हमारी भाषा में बताता है कि वहां चीजें कैसे और क्यों अलग हैं तो सच में यह उत्सुकता बहुत ज्यादा बढ़ जाती है. बनारस के विनय कुमार आज वहां की राजधानी और कम भीड़ भाड के फायदे नुक्सान गिना रहे हैं. जरूर पढ़ें.

किसी भी देश को जानने के क्रम में सबसे पहली चीज जो आप अमूमन जानना चाहते हैं, वह होती है कि उसकी राजधानी क्या है | अब जब इस देश के बारे में आपको पता चलेगा कि यहाँ कोई एक राजधानी नहीं है तो आपको बेहद आश्चर्य होगा| दरअसल इस देश की तीन राजधानियां हैं और वह अलग अलग वजहों से हैं|

1. यहाँ पर प्रीटोरिया में कार्यपालिका की राजधानी है क्योंकि देश के राष्ट्रपति यहीं रहते हैं (सीट ऑफ़ प्रेसिडेंट)|

2. केपटाउन में विधायी राजधानी है (सीट ऑफ़ पार्लियामेंट)|

3. ब्लोमफोंटेन में न्यायिक राजधानी है (सीट ऑफ़ सुप्रीमकोर्ट)|download

इस देश में कुछ और चीजें हैंजो काफी अलग हैं| यहाँ पर  अफ्रीका महाद्वीप में सबसे ज्यादा श्वेत आबादी है और हिंदुस्तान के बाहर सब से ज्यादा हिंदुस्तानी भी यहीं रहते हैं| इस देश में कुल 9 प्रोविंस हैं जिसमें सबसे ज्यादा आबादी वाला प्रोविंस हॉटेंग है जिसकी राजधानी जोहानसबर्ग है| लेकिन सबसे ज्यादा भारतीय डरबन में रहते हैं जो क्वाज़ुलूनटाल प्रोविंस में आता है|johannesburg-tour

सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा यहाँ ज़ुलू है और उसके अलावा भी यहाँ 10 और ऑफिसियल भाषाएँ हैं, जिनमे अंग्रेजी और अफ्रीकान्स मुख्य हैं|

अब कहाँ उत्तरप्रदेश जैसा हिंदुस्तान का एक प्रदेश जिसकी आबादी लगभग 22 करोड़ होगी और कहाँ यह पूरा देश जिसकी आबादी लगभग 5.5 करोड़ होगी| मतलब एक उत्तरप्रदेश में 4 दक्षिणअफ्रीका आ जायेगा, इसीलिए यहाँ पर भीड़ भाड़ नहीं देखने को मिलती है| अगर आप जोहानसबर्ग से केपटाउन सड़क के द्वारा जाते है (लगभग 1600किमी दूर), तो आपको कभीकभी 200 किमी तक कुछ भी नहीं दिखेगा, सिर्फ आपकी गाड़ी, हरा भरा वातावरण और शानदार सड़क| (ये 1600 किमी की दूरी भी लोग औसतन 12 घंटे में तंय कर लेते हैं, आप इसी से यहाँ की सड़क का अंदाज लगा सकते हैं)|images-11

यहाँ के तीन सबसे महत्वपूर्ण शहर हैं-

1 . जोहानसबर्ग -जो हमारे मुम्बई की तरह आर्थिक गतिविधियों की राजधानी कहा जा सकता है|

2. डरबन -जो कि महात्मा गाँधी की वजह से बहुत मशहूर है और जहाँ हिंदुस्तान  के बाहर सबसे ज्यादा हिंदुस्तानी रहते हैं|

3. केपटाउन-जो कि विश्व में घूमने फिरने के लिए दूसरा सबसे खूबसूरत और सुकूनदायक शहर है (पहले नंबर पर तो फ़्रांस का एक शहर आता है)|authentic-durban

इसके अलावा पोर्टएलिज़ाबेथ और पोलोकवाने भी काफी मशहूर हैं और काफी लोग यहाँ भी घूमने फिरने आते हैं| लेकिन एक बेहद आश्चर्यजनक बात यह भी है कि एक तरफ जोहानसबर्ग है जो अपराध के मामले में बहुत कुख्यात है तो दूसरी तरफ केपटाउन है जो बेहद सुरक्षित शहर है| डरबन में भी ज्यादा दिक्कतें नहीं हैं, कुल मिलकर जातीय विविधताओं, भाषायी भिन्नताओं और हर रंग और नस्ल के लोगों का एक बेहतरीन देश है दक्षिणअफ्रीका|cape-town

पुरानी चिट्ठियां पढने के लिए यहाँ क्लिक करें

जोहान्सबर्ग से चिट्ठी – 21

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *