ओए न्यूज़

भारत को मिली नई उड़नपरी हिमा दास लेकिन फेडरेशन का अंग्रेजी पर टोंट

जुलाई 13, 2018 ओये बांगड़ू

18 साल की एथलीट हिमा दास नै आज एक बार फिर साबित कर दिया के सपनों की ऊँची उड़ान के लिए रिन से धुले कपडे ना बल्कि पसीना में तर होन वाली लगन की जरुरत होवें सै. आज असम के किसान की बेटी नै इतिहास रच दिया. हिमा नै सब को पछाड़ते हुए भारत की जीत का लठ फिनलैंड के टैम्पेयर शहर में गाड दिए. छोरी ने आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप की 400 मीटर दौड़ मात्र 51.46 सेकंड में पूरी कर गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया. 

भारत में पहली बार ऐसा हुआ के किसी एथलीट नै आईएएएफ की ट्रैक स्पर्धा में गोल्ड मेडल हासिल किया.  लेकिन एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया को हिमा की इतनी बड़ी जीत तै  ज्यादा परवाह उस छोरी के फराटेदार अंग्रेजी  ना बोल पान पै हुई इसलिए भारत को यह शानदार जीत दिलाने वाली हिमा दास के बुधवार को सेमीफाइनल जीतने पर बधाई देते हुए फेडरेशन ने बेहूदा ट्वीट कर डाला.

 

खैर हिमा चाहे इंग्लिश बोले या कोई और बोली लेकिन हिमा की इस उड़ान नै ना जाने कितनी ही खिलाड़ियों के परों में जान फूंकने का काम कर दिया हैं. हमे उम्मीद नहीं यकीन है के आगे भी हिमा दास यूँ ही देश का नाम रोशन करती रहेंगी.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *