ओए न्यूज़

हर खेल को प्यार करो

अप्रैल 7, 2018 ओये बांगड़ू

जनाब आजकल आस्ट्रेलिया में चल रहे हैं कामनवेल्थ गेम, अरे कलमाडी वाले नहीं,सच्ची वाले गेम्स चल रहे हैं.वो हमारे देश में सलमान ,हिरन ,भारत बंद ,आधार कार्ड जैसे इतने सारे मुद्दे रोज हवा में रहते हैं इसलिए हमें जानकारी थोड़ा कम होती है कि शेष दुनिया में आखिर चल क्या रहा है इसलिए बता रिया हूँ कि आस्ट्रलिया में काम्वेल्थ यानी राष्ट्रमंडल खेल .

हमारे देश से सभी गेम खेलने वाले गए है लेकिन जब तक क्रिकेट न हो हमको स्पोर्ट्स में भी मजा नही आता न ,अब मीराबाई चानू नाम की 23 साल, 4 फ़ुट 11 इंच की लडकी ने राष्ट्रमंडल खेलों में 48 किलोवर्ग के भारोत्तोलन में गोल्ड मेडल जीत लिया है. ये खबर कैसी लगी आपको. जाहिर है आधे कहेंगे हमें तो    भारोत्तोलन समझ ही नहीं आता ,बल्ला बाल वाला    गेम होता तो फिर भी समझ जाते ,जैसे हॉकी थोड़ी थोड़ी समझ लेते हैं क्योंकि उसमे एक बल्ला टाईप का और एक बाल टाईप      की होती ही है.

वैसे कितने मजेदार हैं हम,हमें फ़ुटबाल कम समझ आता है,क्योंकि उसमे सिर्फ बाल है,मगर लान टेनिस खूब समझ आता है क्योकि उसमे सानिया मिर्जा है सौरी एक बेट और एक बाल है. हमें बास्केट बाल समझ नहीं आता मगर हमें आईस हॉकी समझ आ जाती है क्योंकि उसमे बर्फ में एक बेट से खेलना होता है बाल जैसी क्वाइन के साथ.
खैर शिकायतें क्या करना हम    हैं ही एसे,हमें क्रिकेट    भरपूर समझ है तो इसमें कुछ गलत नहीं है.मगर क्या है कि आस पास के देश और भी    खेल खेलते हैं और खेलेगा इण्डिया तभी तो आगे बड़ेगा इण्डिया.
अब मैं कठिनतम भाषा    में बताऊंगा कि कैसे जीती मीरा    बाई चानू ,समझ सको तो समझना ..

चानू ने स्नैच राउंड में पहले उन्होंने 80, फिर 84 और तीसरी बार में 86 किलो भार उठा कर अपने लिए स्वर्ण पदक सुरक्षित किया. इसके साथ ही उन्होंने अपना खुद का ही रिकॉर्ड तोड़ दिया है.स्नैच कैटगरी में वो पहले ही 8 किलो भार अधिक उठाने में आगे चल रही थीं. 86 किलो भार उठा कर उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स का रिकॉर्ड भी कायम किया है.

इसके बाद क्लीन एंड जर्क राउंड में मीराबाई चानू ने पहली कोशिश की और 103 किलोग्राम उठाया. दूसरी बार उन्होंने अपने ही पिछले कॉमनवेल्थ गेम्स के 103 के रिकॉर्ड को तोड़ कर 107 किलोग्राम उठाया. तीसरी बार मीराबाई ने 110 किलो उठा कर औरों से 13 किलोग्राम की बढ़त हासिल कर ली.

दूसरे स्थान पर रहीं मॉरीशियस की मारिया हानिट्रा रोलिया, जिनका टोटल रहा 170 किलो.

कॉमनवेल्थ गेम्स के आधिकरिक ट्विटर हैंडल ने ट्वीट किया है कि मीराबाई चानू ने अपने खेल में दो राउंड में कुल 6 बार भार उठाया और हर बार एक नया रिकॉर्ड बनाया.

कैसा लगा सुनकर ..वैसे इतना भी कठिन नहीं है, बस जरुरत है हर खेल को प्यार करने की .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *