गंभीर अड्डा

Audio : उतराखंड में लड़की को जिन्दा जलाया गया,क्या मिलेगा न्याय ?

दिसंबर 24, 2018 ओये बांगड़ू

ऑडियो सुनने के लिए यहाँ क्लिक करे –

उत्तराखंड(पौड़ी) में छेड़खानी के विरोध पर एक लड़की(18 वर्षीय) को जला दिया गया जिसकी दि‍ल्‍ली के सफदरजंग अस्‍पताल में आज मृत्यु हो गई।

पिछले सप्ताह वो कॉलेज से स्कूटी पर लौट रही थी, उसका रास्ता रोककर मनोज(शादीशुदा) नाम के युवक ने उससे जबर्दस्ती करने की कोशिश की, और लड़की के बहुत विरोध के बाद उसने उसपर पेट्रोल छिड़कर आग लगा दी.यह दरिंदा यहीं नहीं रुका, लड़की की माँ के मुताबिक उन्हें एक फोन आया जिसमे कॉलर ने कहा- “मैंने तुम्हारी बेटी को जला दिया है, उसे बचा सकते हो तो बचा लो।” लड़की की माँ ने बताया कि करीब ढाई साल पहले भी उसने लड़की से बत्तमीजी की थी, जिसपर लड़की ने उसे तमाचा जड़ा था. इस घटना की शिकायत के बाद मामला शांत हो गया था.

अपने प्रदेश में एक और जघन्य घटना हो गई। मैं शर्मिंदा हूँ, क्रोधित भी, और चिंतिंत भी कि यह हम कहाँ जा रहे कैसा समाज बना रहे ? कल मेरी बहन/बेटी के साथ भी यह हो सकता है, किसी की भी बहन के साथ, सोचकर ही सहम जाता हूँ।

युवक हिरासत में है, मुख्यमंत्री जी ट्वीट करके उसे कठोर से कठोर सजा देने की बात कह चुके हैं. मेरे लिए तो इसकी सजा के रूप में फांसी भी कम है, एक झटके की मौत इसके लिए सजा के नाम पर कुछ नहीं(हालांकि मैं जानता हूँ फाँसी भी नहीं होगी)

मेरी उंगली भी अगर हल्का जल जाती है तो मारे जलन चैन नहीं मिलता, मेरी दादी माँ भी जलने से मर गईं, तब मैं छोटा था… पर मुझे याद है वो किस दर्द और तकलीफ़ से गुजरी थीं, मैं उनके समीप जाता तो वे कहतीं “सिगड़ी और अलाव के सामने नहीं बैठना”

ये लड़की भी 70% जली, एक हफ़्ते अस्पताल में भर्ती रही और इस एक हफ्ते में उसने हजार बार असहनीय दर्द से जूझते हुए मर जाना चाहा होगा.

हमारे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र जी ने एक दिन घोषणा की थी कि राज्य में किसी भी लड़की का बलात्कार हुआ तो दोषी को फांसी होगी, मेरे लिए तो यह घटना बलात्कर की ही है.बलात्कार न कर पाने के बाद उसने उसे जलाकर मार दिया.अगर वह कुकर्म करने में सफल रहा होता तो तब भी उसे आग ही लगाता.मैं चाहता तो हूँ कि आरोपी को भरे बाजार आग लगा दी जाए मगर यह सम्भव नहीं(दोषी के पक्ष में आकर कुछ लोग इसे अमानवीय करार देंगे) पर फांसी तो होनी ही चाहिए.

ऐसी ही एक और अमानवीय घटना राम राज्य का नारा लगाने वाले योगी के उत्तर प्रदेश के आगरा में हुई. जहाँ 10 वीं की छात्रा को पेट्रोल डालकर सरेराह जला दिया गया. लालऊ गाँव के जूता कारीगर की बेटी साइकिल से स्कूल आया जाया करती थी और 18 तारीख को स्कूल से आते हुए बाइक सवार दरिंदों ने पेट्रोल डाल कर लड़की को आग लगा दी. जिसके बाद लड़की को सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ 20 दिसम्बर को लड़की ने दम तोड़ दिया.

इन दोनों ही घटनाओं में मासूम लड़कियों को सरेआम जलाया गया. अब  गुनेहगार कब तक और क्या सजा मिलेगी इसका इंतज़ार है ….

(राइटर – राजेन्द्र नेगी )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *