ओए न्यूज़

ऑडियो: नाख़ून से बाल उगवाने वाले बाबा बेच रहे है शैम्पू

दिसंबर 3, 2018 ओये बांगड़ू

 

ऑडियो सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें –

बाबा रामदेव  सन्  2000 के आस पास जब आस्था चैनल में योग बेच रहे थे तो स्वदेशी के धुर समर्थक थे। उनका मानना था कि हम मल्टीनेशनल कंपनियों के प्रोडक्ट यूज करके अपना नुकसान कर रहे हैं जबकि इनके प्रोडक्ट यूज किये बिना ही हमारी चीजें स्वस्थ रह सकती हैं।

मुझे याद है बाबा रामदेव शेम्पू इस्तेमाल करने वालों को सख्त हिदायत देते थे कि कहां शैम्पू इस्तेमाल करते हो यह नुकसान देता है। एक बार एक भक्त ने पूछा भी कि वह सतरीठा शैम्पू इस्तेमाल करता है क्या वह भी नुकसानदायक है। तो रामदेव बोल्या कि ये सब अपना सामान बिकवाने के तरीके है, आप तो नाखून घिसो। बाल बढ़िया रहेंगे। काले घने लहलहाते।

सन्  2000 के आस पास जितने भी आस्था चैनल ने रामदेव भक्त बनाये थे वह सभी नाखून घिसा करते थे। दोनो हाथों के नाखून घिसने से शैम्पू की कतई जरूरत नही पड़ती, सिर्फ पानी से बाल धोलो। और मजे से काले घने लम्बे बालों का लुत्फ उठाओ.

बाबा की नसीहत पर स्कूल की मास्टरनियों ने स्वेटर बुनना छोड़कर नाखून घिसना शुरू कर दिया था। हर गंजा काम धंधा छोड़कर नाखून घिसने में लगा हुआ था। कई लोगों के नाखूनों में घाव आप आज भी देख सकते हो।

बाबा रामदेव जैसी लहलहाती फसल पाने के लिए उस समय मे लोग खाने पीने के अलावा अगर कोई तीसरा काम करते थे तो वह था बस नाखून घिसना.

इतने सालों तक जिस बाबा ने लोगों से नाखून घिसवाये आज वह बाबा शैम्पू बेच रहा है। स्वदेशी के नाम पर रीठा का शैम्पू

जो कहा करता था नाखून घिसने से सब होगा वह खुद कह रहा है उसका शैम्पू लगाओ।

कितना अत्याचार है न..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *