अपनी माटी अपना बचपन- 10

डाक्टर अनिल कार्की कहते हैं कि अपनी माटी अपना बचपन की यह 10वीं किश्त’भोटिया-भोट जुमली-जुमला’आप सब लोगों के लिए मेरा गाँव पूर्वी रामगंगा के किनारे ऐसी जगह है जहाँ से एक सड़क सीधे मुनस्यार की तरफ चली जाती है और थल से कुछ किलोमीटर आगे गौचर से एक संड़क डीडीहाट अस्कोट की ओर चली जती … Continue reading अपनी माटी अपना बचपन- 10