गंभीर अड्डा

मंगल ग्रह पर उतरा नासा का इंसाइट लैंडर, क्या जल्द होगी इंसानों की लैंडिंग ?

नवंबर 27, 2018 ओये बांगड़ू

भारतीय समयनुसार मंगलवार की रात मंगल ग्रह के अरबों साल पुराने राज़ खोलने के लिए, अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का अंतरिक्ष यान इंसाइट लैंडर मंगल ग्रह पर उतर गया. नासा का यह रोबोटिक मिशन मंगल को खोद कर कई ऐसी जानकारियाँ सामने लाना वाला है जो मंगल ग्रह पर इन्सान के जाने की कितनी संभावना है इसे भी साफ़ कर देगी.

इंसाइट के मंगल ग्रह पर उतरने से पहले के 7 मिनट सबसे खतरनाक थे. उन सात  मिनट में इस अन्तरिक्ष यान की स्पीड को 19,800 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से शून्य की रफ्तार पर आना था, आखिरकार ऐसा हो पाया और इसके बाद इंसाइट पैराशूट से बाहर आया और लैंड हुआ. जब इंसाइट मंगल पर सुरक्षित तरीक़े से उतर गया तो कैलिफ़ोर्निया में नासा के मिशन कंट्रोल में ख़ुशी देखने लायक थी.

NASA के इस यान की मंगल तक की उड़ान में तकरीबन 1 बिलियन डॉलर यानी 70 अरब रुपए का खर्च आया है. सौर ऊर्जा और बैटरी से ऊर्जा पाने वाले लैंडर को 26 महीने तक संचालित होने के लिए डिजाइन किया गया है. हालांकि NASA को उम्मीद है कि यह इससे अधिक समय तक चलेगा.

InSight मंगल ग्रह की सतह पर 10 से 16 फुट गहरा सुराख करेगा. मंगल ग्रह की इस खुदाई की मदद से मंगल ग्रह कैसे बना,वहां आने वाले भूकंप, कंपन ,तापमान, कैसे घूमता है जैसे कई रहस्यों की जानकारी मिल सकेगी. नासा ने इसे कोई सात महीने पहले मंगल की ओर रवाना किया था.  इंसाइट लैंडर द्वारा पृथ्वी पर भेजी जाने वाली जानकारियों की मदद से साल 2030 तक मानव की लाल ग्रह पर लैंडिंग काफी आसान हो जाएगी.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *