ओए न्यूज़

आखिर क्यों पीएम मोदी ने दिया इंटरव्यू ?

जनवरी 2, 2019 ओये बांगड़ू

एक न्यूज एजेंसी में इंटरव्यू देकर पीएम साहब ने देश के मीडिया हाउसेस के बीच एक एनालिसिस जंग छिड़वा दी है। बड़े बड़े पत्रकार, साहित्यकार, लेखक, प्रवक्ता, अर्थशास्त्री,राजनितिक शास्त्री सब चैनल और अखबारों के जरिये अपनी अपनी राय रखने में लगे हैं कि आखिर क्यों पीएम साहब ने न्यूज एजेंसी में आकर इंटरव्यू दिया, आखिर क्या प्लानिंग रही होगी।

मतलब ये समझ लीजिए कि देश फिलहाल एक ही चीज देख रहा है पीएम साहब के टीवी पर आने का रीजन, भक्त टाइप लोग भक्ति वाले रीजन दे रहे है और आलोचक टाइप लोग आलोचना वाले रीजन दे रहे हैं। टीवी वेबसाइट सब ऐसे ही रीजन से भरी पड़ी है।

अभी एक चैनल पर कोई राजनीतिक शास्त्री बता रहे थे कि दरअसल आरएसएस जो है उसकी और बीजेपी की पट नही रही इसलिए आरएसएस जगह जगह नितिन गडकरी को प्रमोट करने में लगी है. गुजरात मॉडल में मोदी के काम(कथित) की तर्ज पर गडकरी के किये कामों को हाईलाइट करके दिखाया बताया जा रहा है जिससे मोदी जी खफा हैं और दूसरी तरफ अमित शाह के खिलाफ पार्टी में आवाजें उठने लग गई हैं, अमित शाह की जो बची कुची इज्जत थी वह तीन चुनाव हारने के बाद चली गयी। मगर मोदी जी इसे समझते है तो वह खुद इंटरव्यू में आ गए ताकि जो जवाब डाइरेक्ट आरएसएस को नही दिए जा सकते वह टीवी के सामने दे दे.

जैसे राम मंदिर पर अध्यादेश की RSS प्रमुख मोहन भागवत की बात को सिरे से खारिज कर दिया और कह दिया कि जी हम कानून के रस्ते जाएंगे कोई अध्यादेश नही लाएंगे.

अमित शाह पर भी कह दिया चुनाव में हार जीत होती है।

फिलहाल पीएम साहब शायद आरएसएस को चुप कराने के लिए ये इतना लंबा इंटरव्यू दिए हैं ताकि आरएसएस को साफ साफ मेसेज चला जाये कि पीएम साहब की अपनी एक इमेज है जिसके बूते वह जीत सकते हैं।

पार्टी के अंदर की आवाजों से उन्हें कुछ खास फर्क नही पड़ता।

खैर टीवी चैनल की बहसों में आई व्याख्याओं से इससे ज्यादा चीजें सुनने समझने को मिल रही हैं आपकी अपनी श्रद्धा है आप क्या क्या समझना चाहते हैं। टीवी द्वारा आपको वह समझा दिया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *